712 : अमरावती : 40 बाय 40 फुटाच्या शेततळ्यात मोत्याची शेती, मनोज ढोरेंची यशोगाथा

author ABP Majha   8 мес. назад
488,295 views

4,184 Like   225 Dislike

Moti ki kheti kese kare/ मोती की खेती कैसे करें।

मोती की खेती करने के लिए सबसे पहले सीप लानी पड़ती है फिर उसको 10 दिन तक अपने वातावरण में डालने के लिए रखनी पड़ती है जब वह अपने वातावरण में ढल जाती है उसके बाद उसकी सर्जरी की जाती है सर्जरी तीन प्रकार से की जाती है जिससे अलग-अलग प्रकार के मूर्ति मिलते हैं जैसा कि डिजाइनर मोती हाफ राउंड मोती गोल मोती आज मार्केट में डिजाइनर मोती की ज्यादा मांग है अगर किसान भाई खेती बाड़ी के साथ-साथ हैं मोती की खेती भी करते हैं तो काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं अधिक जानकारी के लिए आप हमारे से संपर्क करें कैलाश मीणा कालवाड रोड हिंगोनिया जयपुर राजस्थान दूरभाष नंबर 9667529683

712 : पुणे : अवघ्या 3 वर्षात सव्वा 3 कोटींची उलाढाल करणारा 'गूळ'...

At the age of 21 he became one of the youngest achievers in Agri Allied business, His turnover crossed 30million Rupees (3 crores)He exports organic Jaggery to many countries.

देशी कोंबडी पालनातून कोटयावधींची कमाई करणाऱ्या अहमदनगर...

देशी कोंबडी पालनातून कोटयावधींची कमाई करणाऱ्या अहमदनगर,आंतरवलीच्या अंकुश काकडेंची यशोगाथा

विजय वाघ यांची दुग्ध व्यवसाय आणि ससेपालनाची यशोगाथा

विजय वाघ यांची दुग्ध व्यवसाय आणि ससेपालनाची यशोगाथा Link: https://youtu.be/Nh7_qwvU150

Freshwater Culture Pearls production

Production fo Chinese Freshwater Pearl

दागिन्यांची शोभा वाढवणारा मोती प्रत्येकाला हवाहवासा वाटतो. हे शिंपल्यातले मोती फक्त समुद्रातच मिळतात असा बहूतांश जणांचा समज असतो. मात्र अमरावतीच्या मनोज ढोरे यांनी आपल्या शेततळ्यात मोतीची शेती केली. मोतीच्या शेतीचं तंत्र स्वतः पुरतंच न ठेवता, त्यांनी शेतकऱ्यांसाठी ट्रेनिंग सेंटरही सुरु केलं.

For latest breaking news, other top stories log on to: http://abpmajha.abplive.in/ & https://www.youtube.com/abpmajhalive

Comments for video: